×

वो

By Mr Garad in Poems » Long
Updated 21:00 IST Oct 21, 2016

Views » 214 | 2 min read

की हमने उसको भुलाने की...

लाख कोशिश की...

पर कम्भकत दिल ने 

उसको delete करने की साज़िश ना की ।।

 

रोज़ सुबह उसको Good Morning

के मैसेज forward करते थे 

और छुप छुप के net pack डाल के

कभी कभार "Hi" भी भेजा करते थे 

एक दो बार हो गई थी 

"The so called Conversation" 

But बाद में जब दिखने लगा सिर्फ blue tick 

तो छोड़ दिया हमने 

बात करने का intention ।।

 

बहुत बार देखा उसको 

किसी और के साथ घूमते हुए 

हस्ती गाती खुश थी वो

यही देख के

दिल को तसल्ली मिल गई मेरे 

फिर delete कर दिया उसका contact 

मैंने अपने फ़ोन से 

पर दिल का memory card format नहीं 

मार सका 

जो भरा था 

उसके हसते हुए चेहरो के images से ।।

1 likes Share this story: 1 comments

Comments

Login or Signup to post comments.

Kalamwali 22-Oct-2016 08:14

Kya baat hain!!

Sign up for our Newsletter

Follow Us