Tu meri narazgi hai

By Shashikant Sharma in Poems » Short
Updated 11:30 IST Jul 13, 2019

Views » 68

जब सब कुछ ठीक होता है, नहीं आती तुम्हारी याद मुझे,

जब मैं नाराज़ होता हूँ, सिर्फ तभी तुम्हारा ख्याल आता है,

मैं तुम्हारा गुनेहगार सा हूँ, तुम मेरी नाराज़गी जैसी.

1 likes Share this story: 0 comments

Comments

Login or Signup to post comments.