×

Kamal

घर एक घर होता हैघर एक मंदिर होता हैघर एक स्वर्ग होता हैघर एक सपना होता हैघर एक अपना होता है घर बीना सब अधूरा लगता हैघर बीना कोई हमें पचन्ता नही हैघर बीना कोई हमें पूछता नही हैघर... read more...
22-Jun-2016 • 141 views
चंदामामा का  झिंगोला    चंदामामा चंदामामा  माँ से कहता है मम्मी मम्मी  मुझे एक सी देवोना झिंगोला    मम्मी कहती बेटा में कैसे तुम्हारा नाप लेवू  तूम भागते ह... read more...
23-Jun-2016 • 169 views
Poems
» Long
यादगार    नाम था आपका सुमतिलाल  मति चलती थी बहोत तेज  निर्णय लेते थे सही बराबर  नहीं डरते थे किसीको हिंमतसे  मनमें आया वो करके बताते    प्यार दिय... read more...
27-Jun-2016 • 130 views
स्मरण    दादासाको स्मरण करे हम घडी घडी  सब जंजोरोसे छूट जाते है आपके  आशीषसे सही सही    तीन साल कैसे बीते मालूम नहीं  समारा मिरायसे घर भर गया ... read more...
01-Jul-2016 • 137 views
Kamal does not have any followers
Kamal is not following any kalamkars

Sign up for our Newsletter

Follow Us